Yojana Pedia

Sarkari Yojana, State Government Schemes

Pradhanmantri Awas Yojana प्रधानमंत्री आवास योजना PMAY Application Form Last Date

Pradhanmantri Aavas Yojana
राज्‍य सरकार की योजनाएं -  

Pradhanmantri Awas Yojana प्रधानमंत्री आवास योजना PMAY Application Form Last Date:

प्रधानमंत्री २.० के कार्यकाल के परिणामस्वरूप, प्रधानमंत्री कार्यालय ने (कमजोर आय वर्ग एवं निम्न आय वर्ग) में आने वाले अधिक से अधिक लोगों को अपना गृह (घर) बनाने हेतु लाभ पहुंचाने के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना को ३१ मार्च २०२० (31 मार्च 2020) तक बढ़ा दिया है । प्रधानमंत्री आवास योजना (प्रमआयो अथवा पीएमऐवाई) के अंतर्गत लाभार्थी अपना पहला गृह (घर) बनाने या बने हुए गृह आवास पहला घर बनाने या खरीदने के लिए आवास ऋण (Pradhanmantri Awas Yojana) पर ब्याज सब्सिडी का फायदा उठाया जा सकता है। होम लोन के सूद (ब्याज) पर ₹ २.६० लाख का लाभ कमजोर आय वर्ग में पड़ने वाले लोग उठा सकते हैं। इससे पूर्व यह प्रधानमंत्री आवास योजना दिसंबर २०१७ में समाप्त हो रही थी।

प्रधानमंत्री आवास योजना

प्रधानमन्त्री आवास योजना को वर्ष ३१ मार्च, २०२० तक बढ़ाये जाने के फलस्वरूप आवास योजना (शहरी) के अंतर्गत आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (इकोनॉमिकली वीकर सेक्शन) (ईडब्ल्यूएस) व निम्न आय वर्ग (लोअर इनकम ग्रुप) (एलआईजी) को मिलने वाली क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी स्कीम (सीऐलऐसऐस) सूद अनुदान (आर्थिक सहायता) का लाभ अगले साल तक उठाया जा सकता है।

Pradhanmantri Awas Yojana के लाभ हेतु पात्रता:

ऐसे देशवासी जिनकी वार्षिक आय ₹ ३.०० से कमतर है आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के अंतर्गत आते हैं। तथा ऐसे देशवासी जिनकी वार्षिक आय ₹ ६.० लाख तक है, निम्न आय वर्ग (लोअर इनकम ग्रुप) में आते हैं । ऐसे सभी लोगों को ₹ ६.५० लाख तक के ऋण पर ६.५% की दर से सरकार को पुनर्भुगतान करना पढ़ेगा ।

प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी सरकार ने अपने प्रथम कार्यकाल के समय है प्रधानमन्त्री आवास योजना (महत्वाकांक्षी योजना) के अंतर्गत भारत देश में सबके लिए अपना गृह (आवास) २०२२२ सबके लिए घर-2022 के तहत सरकार ने क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी योजना (क्रेलिसस) (CLSS) आरम्भ की थी । इसके पश्चात में इसकी सीमा को बढ़ाकर ₹ छह (०६) लाख से बारह (१२) लाख रुपये सालाना तथा वार्षिक ₹ १२.०० लाख से ₹ १८.०० लाख रुपये तक की आय अथवा आमदनी वाले लोगों के लिए भी कर दिया गया था ।

विशफिन के मुख्य निष्पादन अधिकारी (सीईओ) ऋषि मेहरा के कथनानुसार ₹ १२.०० लाख वार्षिक आय वाले लोगों को मध्यम आय वर्ग (मिडल इनकम ग्रुप) (एमआईजी – १) (MIG-I) कैटेगरी में रखा गया था, इससे अधिक आमदनी वाले लोगों को मध्यम आय वर्ग (मिडल इनकम ग्रुप) (एमआईजी – २) (MIG – II) कैटेगरी में रखा गया । जहाँ प्रथम वर्ग (फर्स्ट कैटेगरी) वाले लोग वार्षिक ₹ ९.०० लाख तक के आवास ऋण (होम लोन) पर सूद में चार प्रतिशत (०४%) तथा द्वितीय वर्ग (सेकंड कैटेगरी वाले लोग वार्षिक ₹ १२.०० लाख तक के आवास ऋण (होम लोन) पर तीन प्रतिशत (०३%) सूद सरकारी अनुदान का लाभ उठा सकते हैं ।

Pradhanmantri Awas Yojana Loan Refund Policy

इस सीमा से अधिक लोन (Home Loan) लेने पर बाकी रकम पर ब्याज सामान्य दर से चुकाना पड़ेगा. हर तरह के लोन के मामले में अधिकतम समय-सीमा 20 साल हो सकती है.” अब हर लाभार्थी सेगमेंट के मामले में सब्सिडी की कुल रकम को शुरू में ही मूलधन में से घटा दिया जाता है।

Pradhanmantri Aavas Yojana

प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत आवास ऋण प्रदान करने वाले अधिकोष घर (बैंक्स) निम्न हैं, जहाँ पर आवास ऋण प्रदान करने के साथ सभी प्रकार की सूचनाएं प्राप्त की जा सकती हैं:

हाउसिंग फाइनेंस कम्पनी, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, फायदा बैंक, स्माल फाइनेंस बैंक तथा कुछ बड़े ऋण संस्थान भी प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ अधिक से अधिक ग्राहकों को उपलब्ध करा रहे हैं, जैसे नेशनल हाउसिंग बैंक (NHB) तथा द हाउसिंग ऐंड अर्बन डेवलपमेंट कॉर्परेशन लिमिटेड (हुडको) The Housing & Urban Development Corporation Limited (HUDCO) भी प्रधानमंत्री आवास योजना को सफल बनाने में शामिल हैं।

सरकारी योजनाओ की जानकारी के लिए सब्सक्राइब करे।

Click Here for Website of the Vibhag- www.pmaymis.gov.in/

Download Yojana Guide with Full Details

राज्‍य सरकार की योजनाएं -  

3 thoughts on “Pradhanmantri Awas Yojana प्रधानमंत्री आवास योजना PMAY Application Form Last Date

  1. मेरा ये सवाल है कि अभी तक हमारा आवास क्यों नहीं आया है अगर आप लोग आवास दे रहे है तो पहले ऐसे लोगो को दो ना जिनके पास घर नहीं है आप लोग तो जिनके पास घर है उनको है पहले दे रहे हो मै गाव से हूं और मैंने देखा है कि जिनका पक्का घर पहले से ही उनका पहले है आवास निकाल रहा

  2. आवास तो गांव के सरपच और पंचायत के लोग देखकर निकलते है ना जिनका पक्का घर है वो लोग मिट्टी का है बोल के अपना आवास पैसे देकर पहले निलक लेते है ऐसे में जिनका घर नहीं है वो लोग क्या करे माना कि 2022 तक सबको आवास मिल जाएगा पर जिनको जरूरत है उनको पहले दो ना गांव में तो सब को पता रहता है किसका घर है किसका नहीं है ये मेरी ही समस्या नहीं है हर गांव में ऐसा होता है

  3. मेरा और एक सवाल है क्या पटवारी लोगो को वेतन नहीं दिया जाता जो वो लोग इतना पैसा मांगते है सब से वो तो डॉक्टर से भी बड़े हो गए है जिन्हे है बार मिलने के लिए 4000-5000 देना पड़ता है हमारे घर में जमीन के लिए उनको कितना पैसा दे चुके है दादा जी के मृत्यु के बाद हम सब जमीन को अलग करना चाहते है
    ऐसे में गरीब इंसान क्या करे अगर उनको वेतन नहीं मिलता है तो लेंगे तो चलेगा पर मिलने के बावजूद भी गरीब को लूट रहे है विकास करके क्या फायदा सरकार का को किसान के लिए कुछ नहीं कर सकते जो किसान ही इस देश की मूल धरोहर है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *