Yojana Pedia

Sarkari Yojana, State Government Schemes

Pradhanmantri Vaya Vandana Yojana Online Apply वय वंदना योजना Details

Pradhanmantri Vaya Vandana Yojana
राज्‍य सरकार की योजनाएं -  

Pradhanmantri Vaya Vandana Yojana Online Apply वय वंदना योजना Details प्रधानमंत्री वय वंदना योजना ॥

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना – संक्षेपक: भारत सरकार के महामहिम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (1.0) (प्रथम कार्यकाल) की अध्यक्षता में दिनांक 02 मई 2018 में सम्पन्न मंत्रिमंडल गोष्ठी (कैबिनेट मीटिंग) (सांयकाल 19:28 बजे भारतीय मानक समय) भारत सरकार के केंद्रीय मंत्रिमंडल ने प्रधानमंत्री वय वन्दना योजना / प्रधानमंत्री वरिष्ठ आयु वन्दना योजना (प्रधानमंत्री वंद वंदना व्यावस्था को 31 मार्च 2020 तक कार्यान्वयन हेतु पश्च-अनुमोदन विस्तृत (Post-Endorsement Extension for Implementation) कर दिया ।

Pradhanmantri Vaya Vandana Yojana

वर्ष 2018 – 19 के आयव्ययक भाषण (बड्जेट स्पीच्) में भारत सरकार ने प्रधानमंत्री वय वंदना योजना के अंतर्गत निवेश हेतु प्रति वरिष्ठ नागरिक ₹ 15 लाख तक अधिकतम सीमा राशि में वर्धन की घोषणा की है। प्रधानमंत्री वंदना वंदावस्था (प्रधानमंत्री वरिष्ठ नागरिक वंदना योजना) (The Prime Minister Senior Citizen Salutation Pension Scheme) के क्रय अवधि को 31 मार्च 2020 तक अग्रसर कर दिया ।

प्रधानमंत्री वय वन्दना स्कीम (पीएमवीवीवाई) – लाभ:

प्रधानमंत्री वय वन्दना स्कीम (पीएमवीवीवाई) को भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) के माध्यम से क्रियान्वित वृद्धावस्था में सामाजिक सुरक्षा प्रदान की जा सके और इसके साथ ही 60 साल एवं उससे अधिक आयु के वरिष्ठ को अनिश्चित बाजार स्थितियों के चलते उनकी व्याज इन्कम में किसी भी भावी कमी से उन्हें सुरक्षा प्रदान की जा सके। प्रधानमंत्री वय वन्दना स्कीम के अंतर्गत 10 वर्ष तक प्रतिवर्ष 08 प्रतिशत की गारंटीड रिटर्न दर के आधार पर एक निश्चित या आश्वासित पेंशन दी जाती है और इसमें मासिक / तिमाही / छमाही एवं वार्षिक आधार पर पेंशन का चयन करने का विकल्प दिया गया है। रिटर्न में अंतर अर्थात एलआईसी द्वारा सृजित रिटर्न और प्रतिवर्ष 08 प्रतिशत के आश्वासित रिटर्न में अंतर को वार्षिक आधार पर सब्सिडी के रूप में भारत सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।

Pradhanmantri Vaya Vandana Yojana प्रधानमंत्री वय वंदना योजना – प्रमुख अभिकर्तत्व:

भारत सरकार की ओर से प्रधानमंत्री वय वंदना (निवृत्ति वेतन) योजना को संचालित करने के लिए सर्वश्री जीवन सुरक्षा भारत निगम अर्थात जीवन बीमा निगम [लाइफ इंस्युरेन्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (Life Insurance Corporation of India)] को एकमात्र विशेषाधिकार (Sole Privilege) सौंपा गया है ।

यह प्रधानमंत्री वय वंदना व्यवस्था जीवन सुरक्षा पत्र (Policy) का क्रय उभय विकल्प, अर्थात ऑनलाइन मोड के साथ-साथ ऑफ़लाइन मोड में किया जा सकता है।

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना निवृत्ति वेतन जीवन सुरक्षा पत्र क्रय-नामांकन विधि:
प्रधानमंत्री वरिष्ठ नागरिक वंदना निवृत्ति वेतन व्यवस्था / प्रधानमंत्री वय वंदना योजना ऑनलाइन खरीदने के लिए, माननीय वरिष्ठ नागरिक ऑनलाइन रेजिस्ट्रेशन के लिए भारतीय जीवन बीमा निगम की वेबसाइट में लॉग इन कर सकते हैं । एलआईसी की वेबसाइट में लॉग इन कर ऑनलाइन पंजीकरण निर्देशों के लिए प्रक्रिया का अनुकरण करें ।

Pradhanmantri Vaya Vandana Yojana अतिमहत्त्वपूर्ण सूचना:

अवांछित दूरभाष संपर्क / चल दूरभाष / फोन कॉल व काल्पनिक / धोखाधड़ी करने वाले संगठनो के प्रस्तावों से सावधान रहें ।
बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण (The Insurance Regulatory & Development Authority) / (द
इंस्युरेन्स रेग्युलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी) (IRDA) सार्वजनिक रूप से अपने व्यक्तिगत निर्देश / हितों को स्पष्ट करते हुए कहती है कि:
बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण / (द इंस्युरेन्स रेग्युलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी) अथवा इस संगठन में कार्यरत कोई भी अधिकारी प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष रूप से किसी प्रकार भी रूप में जीवन सुरक्षा / बीमा या वित्तीय उत्पादों के विक्रय अथवा अधिशुल्क / अधिमूल्य निवेश (Premia / Premiums Investment) जैसी गतिविधियों में शामिल नहीं होते है ।
बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण (The Insurance Regulatory & Development Authority) जीवन सुरक्षा बीमा पत्र से सम्बंधित / के सन्दर्भ में अधिलाभांश (बोनस) की घोषणा भी कतई नहीं करता है।

अतः उपरोक्त के सन्दर्भ में दूरभाष संपर्क (फ्रॉड्युलेंट् / फ़्रॉजुलेंट् कॉल) करने वाले लोगों से फोन कॉल, नंबर के विवरण के साथ पुलिस के संग अभियोजन / शिकायत पंजीकृत करने हेतु वरिष्ठ नागरिकों से अनुरोध किया जाता है।

प्रधान मंत्री वरिष्ठ आयु सैल्युटेशन स्कीम (प्रधानमंत्री वय वंदना योजना) – विशेषाधिकार / लाभ:
क) पेंशन भुगतान मोड: 10 वर्ष की अवधि बीमा पत्र (पॉलिसी पीरियड) के समयावधि में अनुवृत्ति वेतन लाभार्थी (पेंसनर) के जीवित रहने पर, पेंशन बकाया राशि (मोड अवधि के अनुसार प्रत्येक अवधि के अंत में) देय होगी।
ख) मृत्यु लाभ: 10 वर्ष की अवधि बीमा पत्र (पॉलिसी पीरियड) के समयावधि में पेंसनर की असामयिक मृत्यु की परिस्थिति में लाभार्थी / लाभग्राही द्वारा नामित सदस्य को प्रधानमंत्री वय वंदना निवृत्ति वेतन बीमा पत्र का क्रय मूल्य वापस कर दिया जाएगा।
ग) परिपक्वता लाभ: अवधि बीमा पत्र अवधि (पॉलिसी पीरियड) के अंत तक अनुवृत्ति वेतन लाभार्थी के जीवन रक्षा पर अंतिम निवृत्ति वेतन किस्त (Final Pension Amount) के साथ क्रय मूल्य देय होगा।

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना अंतर्गत पात्रता हेतु निबंधन व अन्य नियम:

माननीय वरिष्ठ नागरिक के लिए निम्न निबंधन व नियमों का पूर्ण किया जाना अनिवार्य है:
01) न्यूनतम प्रवेश आयु: 60 वर्ष (पूर्ण)
02) अधिकतम प्रवेश आयु: कोई सीमा नहीं
03) पॉलिसी पीरियड / जीवन सुरक्ष पत्र अवधि : अधिकतम 10 वर्ष
04) न्यूनतम पेंसन (निवृत्ति वेतन) राशि देय: (01) ₹ 1,000/- प्रति माह, (02) ₹ 3,000/- प्रति तिमाही (03) ₹ 6,000/- प्रति छमाही व (04) ₹ 12,000/- प्रति वर्ष
05) अधिकतम पेंशन (निवृत्ति वेतन) राशि देय : (01) ₹ 10,000/- प्रति माह, (02) ₹ 30,000/- प्रति तिमाही, (03) ₹ 60,000/- प्रति छमाही और (04) ₹ 1,20,000/- प्रति वर्ष।

उपरोक्त लिखित प्रति वरिष्ठ नागरिक अधिकतम निवृत्ति वेतन की सीमा है, अर्थात, प्रधानमंत्री वय वन्दना योजना / प्रधानमंत्री वरिष्ठ नागरिक निवृत्ति वेतन वंदना व्यवस्था के अंतर्गत नवीन बीमा पत्र सहित सभी बीमा पत्र के अंतर्गत पेंशन की समुच्चय राशि सहित पूर्व समय से ही प्राप्त की गई पीएम वय वंदना योजना अद्वितीय परिज्ञान संख्या / (The Unique Identification Number) (UIN) 512G311V01 के अंतर्गत प्राप्त एक वरिष्ठ नागरिक को दी गई अधिकतम पेंशन सीमा से अधिक नहीं होगी।

Pradhanmantri Vaya Vandana Yojana प्रधानमंत्री वय वन्दना क्रय मूल्य का संदाय:

प्रधानमंत्री वरिष्ठ नागरिक वन्दना योजना / प्रधानमंत्री वय वंदना योजना का क्रय एकमुश्त खरीद मूल्य का संदाय करके क्रय किया जा सकता है। निवृत्ति वेतन लाभग्राही / पेंसनर्स के पास या तो पेंशन की राशि अथवा क्रय मूल्य के चयन का विकल्प उपलब्ध होता है।

निवृत्ति वेतन क्रय (Pension Purchase) के विभिन्न वैकल्पिक योजना (विकल्प): पीएम वय वन्दना निवृत्ति वेतन योजना के विभिन्न विकल्पों के अंतर्गत न्यूनतम तथा अधिकतम क्रय मूल्य निम्नानुसार उपलब्ध हैं :

वार्षिक (Annual) न्यूनतम राशि – ₹ 1,44,578/- व अधिकतम धनराशि ₹ 14,45,783/-
अर्धवार्षिक (Half-Yearly) न्यूनतम राशि – ₹ 1,47,601/- व अधिकतम धनराशि ₹ 14,76,015/-
त्रैमासिक (Quarterly) न्यूनतम राशि – ₹ 1,49,068/- व अधिकतम धनराशि ₹ 14,90,683/-
मासिक (Monthly) न्यूनतम राशि – ₹ 1,50,000/- व अधिकतम धनराशि ₹ 15,00,000 / –

क्रय किए जाने वाले प्रधानमंत्री वय वंदना बीमा पत्र योजना का क्रय मूल्य को निकटतम ₹ मूल्य को लगबघ मनाकर भारित किया जावेगा (The Purchase Price to be Charged shall be Rounded to Nearest Value)।

Pradhanmantri Vaya Vandana Yojana पेंशन पेमेंट / रीमिटेंस की विधि:

निवृत्ति वेतन संदाय के विकल्प (01) मासिक, (02) त्रैमासिक, (03) अर्धवार्षिक तथा (04) वार्षिक आधार हैं। निवृत्ति वेतन संदाय (पेंसन पेमेंट / रीमिटेंस) राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (एनईएफटी) या आधार समर्थकृत भुगतान प्रणाली (आधार इनेबुल्ड पेमेंट System) के माध्यम से होगा।

निवृत्ति वेतन की पहली किस्त का भुगतान पृथक आधारों पर किए जाने का प्रावधान है, अर्थात, 01 वर्ष, 06 महीने, 03 महीने या 01 महीने के बाद पेंसन की भुगतान विधि के आधार पर समान खरीद की तिथि से, वार्षिक, अर्धवार्षिक, त्रैमासिक अथवा मासिक क्रमशः ।

सैम्पल पेंशन रेट्स प्रति ₹ 1000/- खरीद मूल्य पेंशन पेमेंट / रिमिटेंस के लिए ₹1000/- का क्रय मूल्य पेंशन भुगतान के विभिन्न मोड के लिए यहाँ हैं:

1) वार्षिक (वार्षिक) आधार: ₹ 83.00 प्रति वर्ष
2) अर्धवार्षिक (06 महीने) आधार: ₹ 81.30 प्रति वर्ष
3) त्रैमासिक (03 महीने) आधार: ₹ 80.50 प्रति वर्ष
4) मासिक (01 माह) प्रति वर्ष: ₹ 80.00 प्रति वर्ष

पेंशन की किस्त को निकटतम ₹ मान तक सीमित किया जाएगा। ये दरें आयु-स्वतंत्र हैं। समर्पण मूल्य (Surrender Value) : प्रधानमंत्री वय वंदना योजना, स्व-या पति / पत्नी के किसी भी गंभीर / टर्मिनल बीमारी के इलाज के लिए पेंशनर आवश्यक धन की तरह असाधारण शर्तों के तहत पॉलिसी पीरियड के दौरान पूर्व-परिपक्व निकास (Pre-Mature Exit) (PME) की अनुमति देता है। ऐसे विषयों में देय समर्पण मूल्य (सरेंडर वैल्यू) का 98% होगा।

ऋण सहायता नीति (Loan Assistance Policy – LAP):
प्रधानमंत्री वय वंदना स्कीम पॉलिसी बेयरर के लिए ऋण सुविधा (Loan Assistant) 03 जीवन सुरक्षा नीति अवधि (पॉलिसी पीरियड) के पूर्ण होने के पश्चात ही उपलब्ध रहेगी। अधिकतम ऋण उन जीवन सुरक्षा धारकों को बीमा पत्र क्रय मूल्य का 75% दिए जाने का प्रावधान है ।

  • आवधिक अंतराल पर ऋण राशि के लिए ब्याज की दर निर्धारित की जाएगी।
  • 30 अप्रैल 2018 तिथि तक स्वीकृत ऋण के लिए, लागू ब्याज दर (Applicable Interest Rate – AIR) ऋण की पूरी अवधि के लिए 10% प्रति वर्ष देय है। पॉलिसी के तहत देय धारक की पेंशन राशि से ऋण ब्याज (Loan Interest – LI) वसूला जाएगा।
  • प्रधानमंत्री वरिष्ठ आयु वेतन योजना नीति धारक के तहत पेंशन भुगतान की आवृत्ति के अनुसार ऋण ब्याज पॉलिसी धारक को जमा होगा। और यह पेंशन की देय तिथि पर देय होगा। हालांकि, एक्ज़िट के समय पॉलिसी-होल्डर के क्लेम की कार्यवाही से ऋण बकाया राशि की वसूली की जाएगी।

Pradhanmantri Vaya Vandana Yojana कर:

भारत सरकार या भारत सरकार के किसी अन्य संवैधानिक कर प्राधिकरण द्वारा इस योजना पर लगाए गए सांविधिक कर, समय-समय पर कर कानूनों और कर की दर के अनुसार लागू होंगे।

भुगतान की गई कर की राशि को पॉलिसी योजना के तहत देय लाभों की गणना के लिए नहीं माना जाएगा।

नि:शुल्क अवलोकन अवधि: यदि कोई पॉलिसीधारक पॉलिसी के “नियम और निबंधनों” से संतुष्ट नहीं है, तो वह जीवन सुरक्षा / बीमा पत्र प्राप्ति आपत्तियों का कारण बताते हुए पॉलिसी भारतीय जीवन बीमा निगम को पालिसी परचेस के 15 दिन (ऑनलाइन क्रय पॉलिसी के 30 दिन में) वापस कर सकते हैं ।

फ्री लुक पीरियड के भीतर रिफंड की जाने वाली राशि स्टैम्प ड्यूटी और पेंशन पेड, यदि कोई हो, के पॉलिसीहोल्डर पोस्ट-डिडक्शन द्वारा जमा की गई खरीद मूल्य होगी।

बहिष्करण: आत्महत्या: आत्महत्या की गिनती पर कोई बहिष्करण नहीं होगा और पूर्ण खरीद मूल्य देय होगा ।

बीमा अधिनियम 1938 की धारा 45 : बीमा अधिनियम 1938 की धारा 45 का प्रावधान समय-समय पर संशोधित किया जाएगा। इस प्रावधान का सरलीकृत संस्करण इस प्रकार है:

बीमा अधिनियम 1938 की धारा 45 के संदर्भ में नीति में प्रश्न के रूप में नहीं बुलाए जाने के प्रावधान, जैसा कि बीमा कानून (संशोधन) अधिनियम 2015 द्वारा संशोधित हैं, इस प्रकार हैं:

जीवन बीमा की कोई नीति किसी भी आधार पर प्रश्न में नहीं कही जाएगी, 03 वर्ष की समाप्ति के बाद:

01) पॉलिसी जारी करने की तिथि या
02) जोखिम के जारी होने की तिथि या
03) पॉलिसी के पुनरुद्धार की तिथि या
04) पॉलिसी के लिए राइडर की तिथि, जो भी बाद में हो।

धोखाधड़ी की जमीन पर, जीवन बीमा की पॉलिसी को 3 साल के भीतर विचाराधीन कहा जा सकता है ।
01) पॉलिसी जारी करने की तिथि या
02) जोखिम के जारी होने की तिथि या
03) पॉलिसी के पुनरुद्धार की तिथि या
04) पॉलिसी के राइडर की तिथि, जो भी बाद में हो।

इसके लिए, बीमाकर्ता को बीमित या कानूनी प्रतिनिधि या नामित या बीमाधारक के रूप में, लागू, जमीन और सामग्री का उल्लेख करना चाहिए, जिस पर ऐसा निर्णय आधारित है।

महत्त्वपूर्ण केंद्रबिंदु भारतीय जीवन बीमा निगम अपने वर्तमान माननीय ग्राहक तथा नए ग्राहक सदस्यों को प्रधानमंत्री वय वंदना पूर्वसेवार्थ वेतन बीमा पत्र क्रय सहित पश्च-क्रय जीवन सुरक्षा पत्र के सन्दर्भ में उचित मार्गदर्शन हेतु आधिकारिक प्रलेख / कृपया बीमा पत्र आलेख / दस्तावेज का अवलोकन करने अथवा निकटतम शाखा कार्यालय से संपर्क करने के लिए परामर्श देता है ।

फ्रॉड का मतलब बीमित व्यक्ति या उसके एजेंट द्वारा, बीमाकर्ता को धोखा देने या जीवन बीमा पॉलिसी जारी करने के लिए बीमाकर्ता को प्रेरित करने के इरादे से, उसके बाद आने वाले किसी भी अधिनियम का मतलब है:
क) सुझाव, जो सत्य नहीं है और जो बीमित व्यक्ति को सत्य नहीं मानता है, के एक तथ्य के रूप में;
ख) बीमित व्यक्ति के ज्ञान या विश्वास के द्वारा एक तथ्य की सक्रियता;
ग) किसी अन्य अधिनियम को धोखा देने के लिए लगाया गया; तथा
घ) इस तरह के किसी भी अधिनियम या कानून के रूप में प्रवेश विशेष रूप से धोखाधड़ी करने की घोषणा करता है।

सर्वश्री भारतीय जीवन बीमा निगम वेबसाइट:

ऑनलाइन क्रय प्रधानमंत्री वरिष्ठ नागरिक वंदना निवृत्ति वेतन व्यवस्था / प्रधानमंत्री वय वंदना योजना के लिए माननीय वरिष्ठ नागरिक ऑनलाइन रेजिस्ट्रेशन के लिए भारतीय जीवन बीमा निगम की वेबसाइट www.licindia.in पर लॉग इन करें ।

सरकारी योजनाओ की जानकारी के लिए सब्सक्राइब करे।

भारतीय जीवन बीमा निगम
केंद्रीय कार्यालय, योगक्षेम (पंजीकृत कार्यालय)
जीवन बीमा मार्ग,
मुंबई – 400 021

Pradhanmantri Vaya Vandana Yojana

भारतीय जीवन सुरक्षा निगम (संगठन) पंजीकरण संख्या: 512

राज्‍य सरकार की योजनाएं -  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *