Yojana Pedia

Sarkari Yojana, State Government Schemes

UP Kanya Sumangla Yojana उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगला योजना Application Form Eligibility

UP Kanya Sumangla Yojana
राज्‍य सरकार की योजनाएं -  

UP Kanya Sumangla Yojana उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगला योजना Application Form Eligibility:

उपलब्ध नवीनतम समाचार अद्यतनीकरण के अनुसार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ सितम्बर-अंत २०१९ तक उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री “कन्या सुमंगला योजना” (UP Kanya Sumangla Yojana) का श्रीगणेश करेंगे । मुख्यमंत्री की उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगला योजना की घोषणा के पश्चात आवेदन की तिथि तथा रेजिस्ट्रेशन लिंक भी सूचित कर दिया जावेगा ।

UP Kanya Sumangla Yojana

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने फरबरी २०१९ में राज्य विधान सभा सदन के धरातल पटल पर बड्जेट 2019 में उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री “कन्या सुमंगला योजना” की घोषणा करने के पश्चात् इस योजना के कार्यन्वित करने लिए जुलाई २०१९ के प्रथम सप्ताह में समीक्षा की है। सूत्रों के अनुसार मुख्यमंत्री ने इसके लिए समय-सीमा तय करने के लिए आदेश निर्गत कर दिया है।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री “कन्या सुमंगला योजना” (UP Kanya Sumangla Yojana) के नोडल विभाग महिला व बाल कल्याण के अफसरों के कहे अनुसार उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री “कन्या सुमंगला योजना” पोर्टल के पब्लिक डोमेन (जन कार्यक्षेत्र) का कार्य लगभग पूरा किया जा चुका है।

पोर्टल के लिए डेटाबेस, वेब सर्वर और एसएमएस गेटवे की व्यवस्था 20 अगस्त 2019 तक पूरी कर ली जाएगी । 15 सितंबर तक सेक्युरिटी ऑडिट पूरा किए जाने के बाद मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश “कन्या सुमंगला योजना” का लोकार्पण करेंगे। इसी बीच 15 से 30 सितंबर के बीच जनपद से जुड़े अफसरों का प्रशिक्षण का लक्षित कार्य का भी निपटान कर लिया जाएगा।

UP Kanya Sumangla Yojana Application Form

01 अप्रैल २०१९ के पश्चात उत्तर प्रदेश में ऑनलाइन आवेदन के द्वारा आवेदकों को घर बैठे योजना से जुड़ने का मौका मिल सकेगा। साथ ही उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री “कन्या सुमंगला योजना” पारदर्शिता भी बनी रहेगी।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री “कन्या सुमंगला योजना” के अंतर्गत वैरिफिकेशन डेटा भी ऑनलाइन अपलोड होंगे:
अधिकारियों का कहना है कि उत्तर प्रदेश कन्या परिवार को ऑनलाइन आवेदन के साथ ही ऑफलाइन आवेदन की सुविधा भी सुलभ रहेगी।

कन्या के परिवार में पिता अथवा अन्य सदस्य माता ऑफलाइन आवेदन निर्धारित अधिकारी जनपद सिंहद्वार (पोर्टल) के माध्यम अपलोड कराएंगे। ये आवेदन प्रपत्र खंड विकास अधिकारी (ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर – बीडीओ), उप-विभागीय न्यायाधीश (सब-डिविशनल मजिस्ट्रेट – एसडीएम), जनपद परिवीक्षा अधिकारी (डिस्ट्रिक्ट प्रोबेशन ऑफिसर – डीपीओ) के यहां जमा किए जा सकेंगे।

सत्यापन प्रक्रिया (वेरिफिकेशन प्रोसेस) के पश्चात जन्म सम्बंधित, टीकाकरण (वैक्सीनेशन), विद्यालय में प्रवेश (एडमिशन) सहित विभिन्न स्तरों पर किए गए वैरीफिकेशन का डेटा भी ऑनलाइन पोर्टल से ही अपलोड किए जाएंगे ।

इसके बाद लाभग्राही कन्या के पक्ष में सरकार द्वारा तय किश्त जारी होगी। जनपद स्तर पर जनपद न्यायाधीश (डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट – डीएम) की अध्यक्षता में मॉनिटरिंग कमिटी (एमसी) का गठन किया गया है, जिसमें मुख्य विकास अधिकारी (सीडीओ), मुख्य चिकित्सा अधिकारी (चीफ मेडिकल ऑफिसर – सीएमओ) और जनपद परिवीक्षा अधिकारी (डिस्ट्रिक्ट प्रोबेशन ऑफिसर) भी इस लक्षित कार्यान्वन में शामिल होंगे।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री “कन्या सुमंगला योजना” UP Kanya Sumangla Yojana Apply Online

प्राप्त सूत्रों के अनुसार उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगला योजना के कार्यान्वित किए जाने में विभिन्न विभागों की भी भूमिका तय की गई है। परिवार में नवजात कन्या के जन्म पर संस्थागत प्रसव या गैर संस्थाागत प्रसव का प्रमाणपत्र स्वास्थ्य विभाग जारी करेगा। उसे 01 अप्रैल 2019 के बाद जन्मी बेटियों की जन्मतिथि सूची को भी जनपद परिवीक्षा अधिकारी को भेजने के निर्देश दिए गए हैं।

नगरीय क्षेत्र में नगर विकास व ग्रामीण क्षेत्र में पंचायती राज विभाग जन्म प्रमाणपत्र जारी करेगा। कन्या के एक वर्ष पूर्ण करने के पश्चात पूर्ण टीकाकरण कार्ड का सत्यापन दोनों में से आवश्यकता अनुसार सहायिका परिचारिका प्रसाविका (ऑग्ज़िलियरी नर्स मिडवाइफ – एएनएम) (Auxiliary Nurse Midwife – ANM) / मान्यता प्राप्त सामाजिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता (आशा) (एक्रिडिटेड सोशल हेल्थ एक्टिविस्ट) (Accredited Social Health Activist – ASHA) द्वारा किया जावेगा ।

सरकारी योजनाओ की जानकारी के लिए सब्सक्राइब करे।

सरकारी विद्यालय में अध्ययन करने वाली बेटियों के आवेदन को खंड शिक्षा अधिकारी (ब्लॉक एजुकेशन ऑफिसर) सत्यापित कर सब-डिविशनल मजिस्ट्रेट या ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर को भेजा जाएगा । ग्रामीण क्षेत्र में ग्राम विकास अधिकारी (विलेज डेवलपमेंट ऑफिसर – वीडीओ) व शहरों में सब-डिविशनल मजिस्ट्रेट – एसडीएम) को आवेदनों का प्रेषित किया जाना जनपद लॉग इन के लिए भेजने का उत्तरदायित्व होगा ।

प्रत्येक नवजात कन्या जन्म से स्नातक पश्चात उसके परिवार को प्रदान की जाने वाली निम्नलिखित सहायता राशि – विश्लेषित मूल्य

कन्या के जन्म घटित होने पर : ₹ 2,000.00 (₹ दो हजार)
एक साल पूर्ण होने व पूर्ण टीकाकरण पर : ₹ 1,000.00.00 (₹ एक हजार)
प्रथम कक्षा (फर्स्ट स्टैण्डर्ड) में प्रवेश लेने पर : ₹ 2,000.00 (₹ दो हजार)
द्वितीय कक्षा (सेकंड स्टैण्डर्ड) में प्रवेश लेने पर : समयानुसार सरकारी योजनाबद्ध नीति के अनुसार
तृतीय कक्षा (थर्ड स्टैण्डर्ड) में प्रवेश लेने पर: समयानुसार सरकारी योजनाबद्ध नीति अनुसार
चतुर्थ कक्षा (फोर्थ स्टैण्डर्ड) में प्रवेश लेने पर:समयानुसार सरकारी योजनाबद्ध नीति अनुसार
पंचम कक्षा (फिफ्थ क्लास में प्रवेश लेने पर : ₹ 2,000.00 (₹ दो हजार)
षष्ठम कक्षा (सिक्स्थ क्लास) में प्रवेश लेने पर : ₹ 3,000.00 (₹ तीन हजार)
नवम कक्षा (नाइन्थ क्लास) में प्रवेश लेने पर: ₹ 3,000.00 (₹ तीन हजार)
स्नातक में प्रवेश पर : ₹ 5,000.00 (₹ पाँच हजार)
२१ वर्ष पूर्ण करने (बालिग होने) की अवस्था में: ₹ 02.00 लाख (₹ दो लाख)

UP Kanya Sumangla Yojana Documents आवेदन के समय प्रस्तुत किए जाने वाले प्रलेख (डाक्यूमेंट्स)

  • कन्या के परिवार का निवास प्रमाचार प्रमाण (Residence Address Proof)
  • कन्या का जन्म प्रमाणपत्र व छायाचित्र (Birth Certificate and Photograph)
  • विद्यालय प्रमाणपत्र (School Certificate)
  • बालिका का मान्य आधार कार्ड (Valid Aadhar Card)

UP Sumangla Yojana Website

राज्‍य सरकार की योजनाएं -  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *